जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व शाकाहारी दिवस, क्या है इसकी खासियत

हर साल 1 अक्टूबर को विश्व शाकाहारी दिवस मनाया जाता है। इसी दिन 1977 में अमेरिकन शाकाहारी समाज की स्थापना की गई थी। अगले साल यानी 1978 में अंतरराष्ट्रीय शाकाहारी संघ ने शाकाहारी जीवनशैली को बढ़ावा दिया था और लोगों में शाकाहारी भोजन के प्रति जागरूकता फैलाई गई थी। अंतरराष्ट्रीय शाकाहारी संघ शाकाहारी जीवनशैली के नैतिक, पर्यावरणीय और स्वास्थ्य लाभों की जानकारी देता है। लोगों में शाकाहारी भोजन के प्रति जागरूकता लाने के लिए हर वर्ष 1 अक्टूबर को वर्ल्ड वेजीटेरियन डे मनाया जाता है। 1 अक्टूबर 1977 को पहली बार यूके वेगन सोसाइटी ने वर्ल्ड वेजीटेरियन डे या विश्व शाकाहारी दिवस मनाया था, जिसे वर्ल्ड वेगन डे भी कहा जाता है। इस सोसाइटी की स्थापना 1944 में हुई थी और वर्ष 1977 यह अपना 50 वां वर्षगांठ मना रहे थे। इस अवसर पर सोसायटी के अध्यक्ष ने इस तारीख को यादगार बनाने के लिए विश्व शाकाहारी दिवस मनाने की घोषणा कर दी थी। तब से लेकर हर वर्ष इस दिन विश्व शाकाहारी दिवस मनाया जाता है। भेदभाव के कारण भी लोग‌ वेगन डे मनाते हैं। दरअसल उस समय शाकाहारी लोगों को डेयरी उत्पादों का इस्तेमाल करने से मना किया जाता था। इस विरोध में शाकाहारी लोगों ने अंडे को त्याग दिया था। जिसके बाद 1951 तक आते-आते यह एक बहुत बड़ा शाकाहारी आंदोलन बन गया था। इसीलिए हर वर्ष 1 अक्टूबर को लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।

  • https://todayxpress.com
  • 39 COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here