जिलाधिकारी का जिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, आने वाली बिमारियों से लोगों को सचेत करने के दिए निर्देश। 

जिलाधिकारी का जिला अस्पताल में औचक निरीक्षण
जिलाधिकारी का जिला अस्पताल में औचक निरीक्षण

जिलाधिकारी का जिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, आने वाली बिमारियों से लोगों को सचेत करने के दिए निर्देश 

पीलीभीत: भारत में जिस तरह से कोरोना के बाद डेंगू और जीका वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है उससे राज्य की सरकारें हर संभव प्रयास कर रही है, इस बिमारी से निजात पाने की… उत्तरप्रदेश अपने आप में एक बहुत बड़ा राज्य है, जहां इस बिमारी का फैलना स्वाभिव है और इसी के चलते प्रदेश में कई तरह से प्रयास किए जा रहे है, इस बिमारी से सावधानी बरतने के लिए। उत्तरप्रदेश की हम बात कर रहे है तो इसमें जिला पीलीभीत की भी बात कर लेते है… पीलीभीत में कोरोना, डेंगू और जीका वायरस जैसी बिमारियों से काफी सर्तकता के नियम बरते जाते है, जो एक अपने आप में अच्छी बात है…

पीलीभीत के जिलाधिकारी पुलकित खरे, जो कि अस्पतालों का निरीक्षण हफ्ते में ज्यादा से ज्यादा करते है, ताकि किसी भी तरह की कमी स्वास्थय विभाग की तरफ से ना बरती जाएं। अगर यहां बात करें दिनांक 13 नवंबर 2021 की तो जिलाधिकारी पुलकित खरे जिला अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे है जहां उन्होनें 7 वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जिला अस्पताल में आकस्मिक निरीक्षण किया। आपको बता दें कि जिलाधिकारी ने अस्पताल के स्वास्थय विभाग में किन चीजों में अनदेखी बरती जा रही है उसका निरीक्षण किया। जिलाधिकारी के द्वारा स्वास्थय विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए, साथ ही अस्पतालों में मरीजों के स्वास्थय में क्या सुधार हो रहा है किन चीजों की जरुरत है उन सब का निरीक्षण लिया।

औचक निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी पुलकित खरे ने अधिकारियों को आदेश दिए कि प्रदेश में फैल रहे जीका वायरस और डेंगू के वैरिएंट के खिलाफ लोगों को जागरुक किया जाए, जिससे कम से कम मात्रा में लोग इस वायरस के सम्पर्क में आए। डेंगू से बचने के लिए गांवों में जागरुक अभियान चलाया जाए साथ ही डेंगू को मारने वाले धुएं और दवाईयों को छिड़का जाए। इसी के साथ जिलाधिकारी की तरफ से जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है, लोगों को खुद भी सतर्कता रहने की बात भी यहां जिलाधिकारी की तरफ से की जा रही है।

उत्तरप्रदेश में जीका वायरस अपड़ेट केस की बात करें तो 13 नवंबर 2021 को ही उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में जीका वायरस का तीसरा मरीज मिला है, पहले जीका वायरस के मरीज हुसैनगंज के फूलबाग में मिला था उसके बाद लाल कुआं में भी जीका वायरस दस्तक दे चुका है, तो वहीं लालकुआं की 46 वर्षीय महिला जीका वायरस की चपेट में आई है, जिसकी पुष्टि के बाद घर में 15 दिन के लिए परिवारजन को आइसोलेट किया गया है। जिस परिवार में जीका वायरस का वैरियंट मिला है उसी परिवार के 4 लोगों समेत 52 लोगों के नमूने लिए गए है। जीका वायरस के संपर्क में आए 106 लोगों के नमूने के.जी.एम.यू भेजे गए है।

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here