नशे की जद में भारत का भविष्य!, क्या ऐसे पूरा होगा नए भारत का सपना?

नशे की जद में भारत का भविष्य!
नशे की जद में भारत का भविष्य!

नशे की जद में भारत का भविष्य!, क्या ऐसे पूरा होगा नए भारत का सपना?

 

Toady Xpress के लिए बैजनाथ से जॉनी खान की रिपोर्ट


बैजनाथ: आज का युवा नशे की दलदल में फंसता जा रहा है,  नशेखोरी की आदत 12 से 20 साल तक के युवाओं में अधिक देखने को मिल रही है, जिससे आने वाली पीढ़ी के भविष्य पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं, दरअसल बैजनाथ बस स्टैंड के पीछे लगती गली आज से नहीं बल्कि कई महीनों और सालों से सुर्खियों में हैं जहां हर रोज सैकड़ों की संख्या में लोग गुजरते हैं लेकिन इस गली में अक्सर स्कूल कॉलेज और ITI के बच्चों का जमावड़ा लगा रहता है, हम आपको इस गली की हकीकत दिखाना चाहते हैं, कि किस तरह से यहां बच्चे सरेआम नशा कर रहे हैं, इतना ही नहीं यह नशेड़ी युवक आते जाते राहगीरों को भी तंग करते हैं, इतना ही नहीं यहां छेड़खानी की बातें भी सामने आ रही हैं, बैजनाथ में कई ऐसी जगहें जहां पर सरेआम नशा परोसा जा रहा है, बैजनाथ का खीर गंगा घाट हो, बैजनाथ पपरोला का रेलवे स्टेशन हो, टी फैक्ट्री हो, गत्ता फैक्ट्री या कई ऐसे स्थान जहां पर युवक नशे की गिरफ्त में दिख जाएंगे…

 

बता दें कि ऐसा नहीं है कि बैजनाथ पुलिस को इसकी जानकारी ना हो लेकिन उसके बावजूद भी स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले इन नशेड़ी युवकों पर पुलिस लगाम लगाने में नाकाम साबित हो रही है, हालांकि पुलिस चरस बेचने वालों और चिट्टा बेचने वालों की धरपकड़ में जुटी हुई… लेकिन जो बैजनाथ पपरोला या आसपास की गलियों या पहाड़ी नुमा स्थानों पर युवक नशा करते हैं उन पर शिकंजा कसने में नाकाम ही साबित हुई है… युवा नशे के मकड़जाल में फंसकर बर्बादी के कगार पर पहुंच रहे हैं,,, इससे उनकी सेहत तो खराब हो ही रही है साथ ही उनका सामाजिक स्तर भी गिरता जा रहा है,,, लोगों की मानें तो नशे का सामान मेडिकल स्टोरों और बुक डिपो आदि पर आसानी से उपलब्ध हो जाता है,,, इस पर रोक लगाने के लिए खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की ओर से बार-बार कार्रवाई की जाती है, लेकिन इसके बावजूद नशे का कारोबार धडल्ले से फल-फूल रहा है….

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here