पहली बार दिखेगी द्रविड़-कोहली की जोड़ी:बारिश बिगाड़ सकती है पहले दिन का खेल, टीम इंडिया का प्लेइंग-XI बना बड़ा सिरदर्द

मुंबई के ऐतिहासिक वानखेड़े स्टेडियम में शुक्रवार से भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला जाएगा। कानपुर में खेला गया पहला टेस्ट बिना किसी नतीजे के ड्रॉ पर खत्म हुआ था। ऐसे में जो भी टीम मुंबई टेस्ट जीतने में कामयाब होगी, वो सीरीज पर भी कब्जा जमा लेगी।दूसरे मुकाबले में टीम इंडिया में कप्तान विराट कोहली की भी वापसी होने जा रही है, जिससे प्लेइंग-XI में कौन खेलेगा और कौन नहीं, ये तय करना भी टीम मैनेजमेंट के लिए बड़ा सिरदर्द होने वाला है। साथ ही बारिश भी दूसरे मुकाबले का मजा किरकिरा कर सकती है।

बता दें कि कप्तान विराट कोहली और हेड कोच राहुल द्रविड़ की जोड़ी का भी ये पहला मुकाबला होगा।
पहले दिन बारिश की आशंका

 
मौसम विभाग ने मुंबई के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। मुंबई में पिछले काफी समय से बारिश जारी है। बुधवार को भी पूरे दिन बारिश हुई थी, जिस कारण दोनों ही टीमें प्रैक्टिस भी नहीं कर सकी थीं। गुरुवार को भी आउटफील्ड गीली रहेगी और बारिश की भी आशंका है। वानखेडे़ स्टेडियम में इंडोर प्रैक्टिस की सुविधा नहीं है। ऐसे में दोनों टीमें बांद्रा कुर्ला में प्रैक्टिस करेंगी। वानखेड़े की पिच पर बिल्कुल भी घास नजर नहीं आ रही है, जिससे मीडियम फास्ट बॉलर्स और स्पिनर्स को मदद मिल सकती है।

यदि बारिश हुई, तब भी गेंदबाजों को ही मदद मिलेगी। फिलहाल, लगातार बारिश के कारण पिच को ढंककर रखा गया है। इसके चलते सतह के नीचे काफी नमी रहेगी। यह भी एक कारण होगा कि तेज गेंदबाजों और स्पिनर्स दोनों को मदद मिलने की संभावना ज्यादा है
प्लेइंग-XI चुनना नहीं होगा आसान
कानपुर में कोहली की गैरमौजूदगी के चलते श्रेयस अय्यर को टेस्ट डेब्यू का मौका मिला था और उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में फिफ्टी लगाई। कानपुर के ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ रहे अय्यर को मुंबई टेस्ट से बाहर नहीं किया जा सकता।

प्लेइंग-XI से बाहर होने की रेस में अजिंक्य रहाणे, मयंक अग्रवाल और चेतेश्वर पुजारा का नाम चर्चा में हैं। खासतौर से रहाणे. दरअसल, रहाणे इस साल 8 बार सिंगल डिजिट पर आउट हुए हैं। वहीं, उनका औसत भी केवल 19.50 का रहा है। 2013 में अजिंक्य के टेस्ट डेब्यू के बाद से ये पहला मौका है, जह उनका बैटिंग औसत 20 से भी कम रहा है। इंग्लैंड दौरे की 7 पारियों में भी उनका बल्ला एकदम खामोश रहा था। वह केवल एक फिफ्टी के साथ महज 109 रन ही बना सके थे। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी रहाणे ने एक शतकीय पारी जरूर खेली थी, लेकिन बाकी सीरीज में वह रनों के लिए तरसते नजर आए थे।

चेतेश्वर पुजारा ने भी पिछली 40 पारियों से शतक नहीं लगाया है और मयंक अग्रवाल भी लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। मयंक की जगह विकेटकीपर केएस भरत पर दांव लगाया जा सकता है। भरत ने पिछले मैच में अपनी विकेटकीपिंग से सभी को खासा प्रभावित किया था और वह ओपनिंग भी कर सकते हैं।
न्यूजीलैंड भी कर सकता है एक बदलाव
केन विलियम्सन की अगुआई वाली न्यूजीलैंड को कानपुर में अनुभवी तेज गेंदबाज नील वैगनर की कमी खली जो दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते थे। कीवी टीम बारिश और धूप, दोनों को ध्यान में रखते हुए एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज के साथ मैदान पर उतर सकती है। टीम से विल सोमरविले को बाहर कर वैगनर को मौका मिल सकता है।

दोनों टीमें-

IND: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, रिधिमान साहा (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, उमेश यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, जयंत यादव, श्रीकर भरत, प्रसिद्ध कृष्णा।

NZ: केन विलियम्सन (कप्तान), टॉम लाथम, रॉस टेलर, हेनरी निकोल्स, टॉम ब्लंडल (विकेटकीपर), विल यंग, ग्लेन फिलिप्स, डेरिल मिशेल, टिम साउदी, नील वैगनर, काइल जैमीसन, विलियम सोमरविले, अयाज पटेल, मिशेल सेंटनर, रचिन रवींद्र

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here