अमित शाह आज राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के 17वें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगे

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज नई दिल्ली में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के 17वें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगे। इस साल के स्थापना दिवस की थीम (विषय) हिमालयी क्षेत्र में आपदा की घटनाओं का व्यापक प्रभाव है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. पी. के. मिश्रा समापन भाषण देंगे। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, अजय कुमार मिश्रा और निसिथ प्रामाणिक और केंद्रीय गृह सचिव भी स्थापना दिवस समारोह में शामिल होंगे।

तकनीकी सत्र में प्रमुख विशेषज्ञ देश के हिमालयी क्षेत्र में भूस्खलन, बादल फटने, भूकंप और ग्लेशियल लेक आउटबस्ट फ्लड (जीएलओएफ) सहित आपदा की घटनाओं के व्यापक प्रभावों पर चर्चा करेंगे।

एनडीएमए के सदस्य एवं अधिकारी, गृह मंत्रालय (एमएचए), राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान (एनआईडीएम), केंद्र सरकार, के मंत्रालयों/विभागों, राज्य सरकारें, राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों के वरिष्ठ अधिकारी (एसडीएमए), विभिन्न राज्यों के अग्निशमन एवं वन विभाग, सिविल सोसाइटी यानी नागरिक समाज के लोग, एनडीएमए के पूर्व सदस्य और सलाहकार समिति के सदस्य इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

इस अवसर पर निम्नलिखित योजनाओं से संबंधित दस्तावेज जारी किए जाएंगे:

1. आपदामित्र

a) आपदामित्र के प्रशिक्षण की नियमावली का विमोचन

b) आपदामित्र के योजना दस्तावेज का विमोचन

2. सीएपी (सामान्य चेतावनी प्रोटोकॉल)

सामान्य चेतावनी प्रोटोकॉल (सीएपी) के योजना दस्तावेज का विमोचन

3. भूकंप प्रतिरोधक परिवेश के निर्माण के लिए सरलीकृत दिशानिर्देश

4. शीतलहर पर दिशानिर्देश।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता वाला राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) भारत में आपदा प्रबंधन के लिए शीर्ष निकाय है। आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत एनडीएमए की स्थापना और राज्य एवं जिला स्तर पर संस्थागत तंत्र के लिए सक्षम वातावरण बनाया जाना अनिवार्य किया गया है। आपदा प्रबंधन के लिए नीतियों, योजनाओं और दिशानिर्देशों के निर्धारण के लिए एनडीएमए को अधिकृत किया गया है। भारत रोकथाम, शमन, तैयारी और प्रतिक्रिया के लिए लोकाचार के विकास की परिकल्पना करता है।

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here