Aparna Yadav: यूपी में हो रहा खेला… आखिर क्यों मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू ने थामा BJP का दामन

Aparna Yadav: यूपी में हो रहा खेला
Aparna Yadav: यूपी में हो रहा खेला

Aparna Yadav: यूपी में हो रहा खेला… आखिर क्यों मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू ने थामा BJP का दामन

उत्तर प्रदेश में मतदान से पहले खेला हो रहा है… नेता मौका देख पाला बदल रहे हैं… इसी कड़ी में मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थामकर सपा केमे खलबली मचा दी है… दरअसल उन्हें डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने BJP की सदस्यता दिलाई… इस मौके पर कई अन्य बड़े नेता भी शामिल रहे… अपर्णा यादव के BJP में शामिल होने की खबरें बीते कई दिनों से राजनीतिक गलियारों में चल रही थीं… इसकी बड़ी वजह थी कि अपर्णा यादव कई बार पीएम मोदी और सीएम योगी की तारीफ कर चुकीं हैं… सावल ये उठता है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि अपर्णा यादव को BJP में शामल होना पड़ा…दरअसल अपर्णा यादव यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपना बड़ा भाई मानती हैं… दरअसल दोनों उत्तराखंड के रहने वाले हैं… यूपी के मुख्यमंत्री बनने से पहले भी अपर्णा योगी की तारीफ करती रहीं हैं… 2017 से पहले वह गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में दर्शन के लिए भी आई थीं… सीएम बनने के कुछ समय बाद ही योगी आदित्यनाथ अपर्णा और प्रतीक यादव के साथ लखनऊ के कान्हा उपवन देखने गए थे, यहां उन्होंने गो-सेवा पर बातचीत की थी…

 

दरअसल अपर्णा यादव प्रतीक यादव की पत्नी हैं, प्रतीक मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के पुत्र हैं, अपर्णा का जन्म 1 जनवरी 1990 को हुआ था, उनके पिता अरविंद सिंह बिष्ट और मां अंबी बिष्ट हैं, उनके पिता पत्रकार रहे हैं, सपा की सरकार में वह सूचना आयुक्त भी रहे, मां लखनऊ नगर निगम की अधिकारी हैं, अपर्णा बिष्ट यादव ने ब्रिटेन की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल पॉलिटिक्स में मास्टर डिग्री हासिल की है, प्रतीक लीड्स यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट डिग्री ले चुके हैं, अपर्णा 2017 के चुनाव में लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हैं, इसी के साथ उनका सियासी सफर भी शुरू हुआ, हालांकि उस चुनाव में उन्हें रीता बहुगुणा जोशी से हार का सामना करना पड़ा था, अपर्णा यादव मुलायम सिंह से भी ज्यादा शिवपाल यादव के करीब रही हैं, यही वजह है कि बीते दिनों शिवपाल ने उन्हें पार्टी के लिए कुछ करने के बाद टिकट की इच्छा रखने और BJP में शामिल न होने की सलाह दी थी… हालांकि अपर्णा के पति प्रतीक राजनीति से बहुत दूर हैं…

 

जानकारों की मानें तो प्रतीक खुद राजनीति में नहीं आना चाहते थे वो अपनी पत्नी अपर्णा यादव को राजनीति में देखना चाहते हैं… अपर्णा और प्रतीक यादव की एक बेटी भी है, अपनी पत्नी अपर्णा को प्रतीक हर तरह की आजादी देते हैं,,, जिसका उदाहरण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर अपर्णा यादव सुर्खियों में आ गईं थीं… अपर्णा यादव ने अखिलेश यादव के समय में उत्तर प्रदेश सरकार को ‘भोकाल मंत्रालय’ का नाम भी दिया था… अपर्णा यादव समाज सेविका भी हैं… वो एक हर्ष संस्था भी चलाती हैं…

  • https://todayxpress.com
  • 14 COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here