छत्तीसगढ़: बुधवार की रात किसानों के लिए रही कयामत की रात…

छत्तीसगढ़: बुधवार की रात किसानों के लिए रही कयामत की रात
छत्तीसगढ़: बुधवार की रात किसानों के लिए रही कयामत की रात

छत्तीसगढ़: बुधवार की रात किसानों के लिए रही कयामत की रात…

कांकेर : छत्तीसगढ़ के पखांजुर में बुधवार की रात गांव में रहने वाले गरीब किसानों के लिए कयामत की रात बनकर आई… क्षेत्र में ओलावृष्टि यानी बर्फ इतनी ज्यादा गिरी की एल्वेस्टर, टाली, खपरा से बने मकान के छप्पर टूट गए… घरों में पानी भर गया, क्षेत्र में हुई बर्फबारी ने लोगों को हक्का-बक्का कर दिया… के ग्राम पंचायत बलरामपुर के आश्रित ग्राम पीव्ही 63, 66, 61 सहित क्षेत्र में ऐसी ओलावृष्टि हुई कि घरों के छप्पर की छतें तक टूट गईं… क्षेत्र में धान के फसलों के बाद लगाई गई मक्का के फसल पूरी तरह नष्ट हो गई… ग्रामीणों के माने पिछले कई वर्षों का रिकार्ड बुधवार की रात हुई ओलावृष्टि ने तोड़ दिया… इस प्राकृतिक आपदा में लोगों के घर और फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है…

 

ग्राम पंचायत बलरामपुर के लोगों के न सिर्फ घर क्षतिग्रस्त हुए बल्कि इनकी खेतों के फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई है… क्षेत्र के लोग इस तबाही को देख विचलित हैं… कमोबेश सभी के घर के छत इस ओलावृष्टि के कारण बर्बाद हो गये हैं… किसान त्राहिमाम कर रहे हैं… बुधवार की रात करीब 9 बजे अचानक हुई ओलावृष्टि से पखांजुर के ग्राम पंचायत बलरामपुर बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.. करीब एक घंटा तक ओलावृष्टि से ग्रामीणों के घर छतिग्रस्त हो गए हैं… वहीं खेतों में लगी मक्का की फसल बुरी तरह बर्बाद हो गई है…वहीं ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से नुकसान की भरपाई के लिए गुहार लगाई है…

 


यह भी पढ़ें-

महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कालीचरण की गिरफ्तारी पर सियासत, देशद्रोह का चार्ज

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here