कांग्रेस मतलब गांधी परिवार:  आखिर क्यों आज तक कांग्रेस में नहीं टूटा गांधी परिवार का तिलिस्म?

आखिर क्यों आज तक कांग्रेस में नहीं टूटा गांधी परिवार का तिलिस्म
आखिर क्यों आज तक कांग्रेस में नहीं टूटा गांधी परिवार का तिलिस्म

कांग्रेस मतलब गांधी परिवार:  आखिर क्यों आज तक कांग्रेस में नहीं टूटा गांधी परिवार का तिलिस्म?

नई दिल्ली: शनिवार को दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर बड़ी बैठक हुई, इस बैठक में भी कुछ खास बात नहीं बनी… साल 2022 सितंबर तक सोनिया गांधी ही पार्टी की अध्यक्ष बनी रहेंगी… यानी साल 2022 में यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव कांग्रेस सोनिया गांधी की की लीडरशिप में ही लड़ेगी,  दरअसल इन 5 राज्यों में 2022 के शुरुआती महीनों में ही चुनाव होने हैं… वहीं गुजरात और हिमाचल प्रदेश में अगले साल के आखिर में चुनाव होने हैं… ये तो सभी जानते हैं कि  

कांग्रेस में गांधी परिवार को सीधे चुनौती देने वाला कोई नहीं, इस पहले जिन्होंने भी ये कोशिश की उन्हें मुंह की ही खानी पड़ी…  बता दें कि राजेश पायलट से लेकर जितेंद्र प्रसाद तक संगठन में चुनाव लड़े, लेकिन उन्हें बड़ी हार का सामना करना पड़ा, इसलिए यह तय है कि आने वाले वक्त में राहुल गांधी ही कांग्रेस के अध्यक्ष होंगे… वहीं अगर

कांग्रेस साल 2022 में 5 में से 2 राज्यों में भी सरकार बनाने में कामयाब होती है तो गांधी परिवार पर होने वाले हमले और नाराजगी कम हो जाएगी… राजनीतिक पंडितों की माने तो पंजाब में जिस तरह से लीडरशिप को बदला गया है अगर वहां जीत मिली तो जो लोग आलोचना कर रहे हैं, वो ही उल्टा निशाने पर होंगे…वहीं जिन 7 राज्यों में साल 2022 में चुनाव होना है, वहां विधानसभा की 951 सीटें हैं और सभी को मिलाकर कांग्रेस के कुल 203 विधायक हैं, इन 7 राज्यों में सिर्फ पंजाब एक ऐसा राज्य है, जहां कांग्रेस की सरकार है लेकिन वहां भी पार्टी के भीतर अंदरुनी कलह है…

उधर कांग्रेस की सबसे बड़ी चुनौती यूपी में हैं जहां कांग्रेस पूरा जोर लगा रही है… हालांकि यहां 403 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस के पास अभी महज 7 सीटें हैं…तो वहीं  गुजरात की 182 सीटों में से 66 कांग्रेस तो पंजाब में 117 में से 80 और हिमाचल में 68 में से 19 सीटों पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी… हालांकि राजनीतिक पंडितों की माने तो अगर 5 राज्यों में चुनाव में कांग्रेस शून्य पर रहती है तो केंद्रीय लीडरशिप सीधे निशाने पर होगी… हालांकि मौजूदा स्थिति को देखकर ऐसा लगता है कि पंजाब और उत्तराखंड में कांग्रेस सत्ता में आ सकती है…

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here