आंदोलन हुआ समाप्त, घर लौटें किसान…

आंदोलन हुआ समाप्त, घर लौटें किसान…


Report By- Vanshika Singh


नई दिल्ली- किसानों ने पिछले 14 महीनों से दिल्ली की सीमाएं जैसे सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर और कई जगहों पर डटे किसानों का आंदोलन चल रहा हैं. कृषि कानूनों की वापसी की पर भी सरकार की ओर से पक्का भरोसा मिलने के बाद किसान आंदोलन अब खत्म हो गया है. दरअसल सरकार की ओर से किसानों को मिले नए प्रस्ताव पर किसान संगठनों में सहमति पहले ही हो गई थी, लेकिन 9 दिसूबर, गुरुवार की दोपहर को इस पर लंबी चर्चा के बाद फैसला हो गया हैं. इस चर्चा में किसान संगठनों के 200 से भी अधिक प्रतिनिधि मौजूद थे. 11 दिसंबर से किसान दिल्ली बॉर्डरों से घर लौटने शुरू करेंगे. जिसके बाद 13 दिसंबर को कई किसान घर लौटते समय स्वर्ण मंदिर पर मत्था टेकते हुए अपने-अपने घर पहुचेंगे.
संयुक्त किसान मोर्चा ने बताया है कि आंदोलन खत्म हो रहा है, साथ ही हर महीने स्थिति की समीक्षा की जाएगी. जिसके बाद 15 जनवरी को समीक्षा बैठक होगी. जिसके बाद कई किसान नेताओं ने प्रेस कॉन्फेंस करते हुए बताया कि आंदोलन समाप्त हो रहा हैं, स्थगित हो रहा है. किसानों ने कहा हैं कि अगर कभी सरकार कृषि कोनूनों के वादों से पीछे हटि, तो किसान फिर सड़को पर दिखेंगे. वहीं किसान नेताओं ने ताना देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘काले कानून’ लाने के लिए धन्यवाद, जिसके वजह से किसानों में जागरूकता और अभूतपूर्व एकता पैदा हुई हैं. किसान और सरकार के बीच 1 हफते से बात चीत चल रही थी. मंगलवार को सरकार की ओर से किसानों को चिट्ठी आई थी. जिसमे एमएसपी पर कमेटी बनाने, मुआवजे पर सैद्धांतिक सहमति और आंदोलन खत्म करने पर मुकदमों की वापसी की बात कही गई थी. जिस पर किसानों ने जवाब में कहा था कि मुकदमा आंदोलन की समाप्ति के बाद नहीं बल्कि पहले ही हटाया जाएंगा.

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here