भारत के ममदोट क्षेत्र में मिली पाकिस्तानी नाव, बीएसएफ में मची हड़कंप!

भारत के ममदोट क्षेत्र में मिली पाकिस्तानी नाव, बीएसएफ में मची हड़कंप!
भारत के ममदोट क्षेत्र में मिली पाकिस्तानी नाव, बीएसएफ में मची हड़कंप!

भारत के ममदोट क्षेत्र में मिली पाकिस्तानी नाव, बीएसएफ में मची हड़कंप!


Report By- Vanshika Singh


नई दिल्ली- भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर सतलुज नदी में एक पाकिस्तानी नाव मिली है. इस नाव से कौन भारतीय क्षेत्र में घुसे है, इस संबंध में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और पंजाब पुलिस जांच मं जुटी है. बता दें कि पंजाब में भारत-पाक बॉर्डर पर सतलुज नदी बहती है. जब बीएसएफ को यह नाव पंजाब के ममदोट क्षेत्र के पास बीओपी डीटी मल के पास मिली है. इससे पहले भी कई बार पाकिस्तान की नाव भारतीय सीमा में मिल चुकी हैं. इन दिनों बॉर्डर पर काफि धुंध पड़ रही है, जिस वजब से सरहद पर दोनों देशों के तस्कर सक्रिय है.

सतलुज नदी का यह एक ऐसा रास्ता है, जिसके जरिये आसानी से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी की जा सकती है. सूत्रों के अनुसार ममदोट में बीओपी डीटी मल के पास बीएसएफ को आज सुबह पाकिस्तानी नाव मिली है. इस नाव को देखते ही बीएसएफ अधिकारियों में हड़कंप मच गई है. इस पाकिस्तानी नाव से कुछ बरामद नहीं हुआ है, लेकिन जहां से यह नाव हरामद हुई है, वहां आसपास के क्षेत्रों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. आपको बता दें कि आसपास के गांवों के लोगों से भी बीएसएफ ने पूछताछ चालू कर दी है. पंजाब पुलिस भी इस पाकिस्तानी नाव के संबंध में जांच कर रही है. पंजाब के ममदोट क्षेत्र में अब भी कई से तस्कर सक्रिय है.

दरअसल इस सान की 5 जनवरी को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला फिरोजपुर जिले में फंस गया था. पाकिस्तान से बॉर्डर लगने की वजह से फिरोजपुर भारत का काफि संवेदनशील इलाका है. पीएम मोदी का काफिला 5 जनवरी, बुधवार को तकरीबन 15 से 20 मिनट बहुत असुरक्षित इलाके में रुका हुआ था. जिस इलाके में पीएम मोदी का काफिला रुका हुआ था, वह एरिया आतंकियों के साथ-साथ ड्रग्स तस्करों का गढ़ बना हुआ है. दरअसल इस क्षेत्र में लगातार टिफिन बम जैसे कई और विस्फोटक पदार्थ मिलते रहते है. बता दें कि जलालाबाद कस्बे में पिछले साल की 15 सितंबर को धमाका हुआ था, जो की फिरोजपुर के नजदीक है और केंद्रीय एजेंसियों की जांच में बताया गया है कि वह आतंकी हमला था.

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here