बड़ा बयान: गांधी परिवार को ही क्यों करना चाहिए कांग्रेस का नेतृत्व ?

बड़ा बयान: गांधी परिवार को ही क्यों करना चाहिए कांग्रेस का नेतृत्व ?

Report- Nitin Ingle, Editor-in-Chief, Madhya Pradesh & Chhattisgarh

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस के बड़े नेता अरुण यादव ने एक बड़ी बात कही, दरअसल यह बात कांग्रेस नेता अरुण यादव ने ट्वीट कर कही, कांग्रेस नेता अरुण यादव ने कहा कि आखिर गांधी परिवार को ही क्यों करना चाहिए कांग्रेस का नेतृत्व, यह सवाल कोई पहली बार नहीं है जब किसी ने कहा कि क्यों नेतृत्व करना चाहिए गांधी परिवार को कांग्रेस का हालांकि इससे पहले गांधी परिवार पर कई सवाल उठते रहे हैं कि आखिर गांधी परिवार कांग्रेस का नेतृत्व क्यों करें, कांग्रेस नेता अरुण यादव ने इसी बात को लेकर तंज कसते हुए जवाब दिया है… अरुण यादव ने ट्विटर के जरिए अपनी बात कही

उन्होंने कहा कि जो लोग यह कहते हैं कि गांधी परिवार ही आखिर क्यों कांग्रेस का नेतृत्व करें वह सब लोग आज आंखें खोल कर देख लें…

अपने ताजा ट्वीट में अरुण यादव ने पार्टी के जीते इस नेताओं पर जमकर निशाना साधा और तंज कसा अरुण यादव ने इस दौरान राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की जमकर तारीफ की मैंने कहा कि जब भी संघर्ष की बारी आती है तब तक कांग्रेस और गांधी परिवार आगे रहता है… बता दें कि कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की मांग लगातार उठ रही है और पार्टी के कई वरिष्ठ नेता, जो पार्टी नेतृत्व से नाराज हैं, वह नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे ऐसे में अरुण यादव ने कांग्रेस के नेतृत्व का जमकर समर्थन किया है…

मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेता अरुण यादव ने अपने ट्वीट में लिखा कि “जो लोग बोलते हैं कि गांधी परिवार को ही कांग्रेस का नेतृत्व क्यों करना चाहिए, वो सब लोग आंखें खोलकर देख लें… जब भी संघर्ष की बारी आती है तब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ही सड़कों पर सबसे आगे नजर आते हैं”

वही एक दूसरे ट्वीट में अरुण यादव ने लिखा कि प्रियंका गांधी शहीद किसानों के आरोपियों को सजा दिलाने के लिए कई दिन जेल में रही…वहीं हाथरस और लखीमपुर खीरी की लड़ाई लड़ी… यह उन सबके लिए करारा तमाचा है जो कहते हैं कि गांधी परिवार ही कांग्रेस का नेतृत्व क्यों करे?” अरुण यादव ने तंज भरे अंदाज में लिखा कि “ये किसानों के सम्मान, मान के लिए युद्ध था, तो जिन्हें राहुल और प्रियंका गांधी के नेतृत्व से दिक्कत थी, वो उस वक्त कहां थे? अरुण यादव ने ये बातें लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर कही…

गौरतलब है कि G-23 कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं का ग्रूप है, जिसमें कपिल सिब्बल, गुलाम नबी आजाद, मनीष तिवारी, शशि थरूर, आनंद शर्मा, रेणुका चौधरी, मिलिंद देवड़ा जैसे नेता शामिल हैं… यह नेता सार्वजनिक तौर पर कांग्रेस नेतृत्व के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं और पार्टी के गिरते प्रदर्शन पर पार्टी परिवर्तन की मांग कर चुके हैं…बता दें कि हाल ही में पंजाब कांग्रेस में हुई उठा-पटक पर कपिल सिब्बल ने फिर कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना साधा था…

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here