रूस-यूक्रेन वार से भारत में मंहगी होंगी ये चीजें!

रूस-यूक्रेन वार से भारत में मंहगी होंगी ये चीजें!
रूस-यूक्रेन वार से भारत में मंहगी होंगी ये चीजें!

रूस-यूक्रेन वार से भारत में मंहगी होंगी ये चीजें!

Russia-Ukraine Crisis: रूस और युक्रेन के बीच छिड़ी जंग का असर पहले दिन से ही दिखने लगा है… रूसी राष्ट्रपति ने जैसे ही युक्रेन में सैन्य कार्रवाई का एलान किया…. भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजार बुरी तरह टूट गए… सोने की कीमत में एकाएक बड़ा उछाल आया और क्रूड ऑयल का दाम 100 डॉलर को पार कर गया… ऐसे में युद्ध और आगे बढ़ा तो पहले से महंगाई का दंश झेल रहे भारत को और महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी… दरअसल रूस और यूक्रेन के बीच जारी विवाद के चलते पहले से ही दुनियाभर के बाजारों में उथल-पुथल मची हुई थी, लेकिन रूसी हमले के बाद तो जैसे हाहाकार मच गया… शेयर बाजार धड़ाम हो गया और कच्चे तेल के भाव आसमान पर जा पहुंचे… रूस-यूक्रेन भले ही भारत से हजारों मील दूर हों रहा हो लेकिन दोनों देशों के बीच ये युद्ध सीधे तौर पर भारतीयों की जेब पर असर डालेगा… यानी देशवासियों को महंगाई की मार के लिए तैयार रहना होगा…

बता दें कि भारत तेल से लेकर जरूरी इलेक्ट्रिक सामान और मशीनरी के साथ मोबाइल-लैपटॉप समेत अन्य गैजेट्स के लिए दूसरे देशों से आयात पर निर्भर है… अधिकतर मोबाइल और गैजेट का आयात चीन और अन्य पूर्वी एशिया से होता है और अधिकतर कारोबार डॉलर में चलता है… युद्ध के हालातों में अगर रुपए में इसी तरह गिरावट जारी रही तो देश में आयात महंगा होगा… विदेशों से आयात के चलते कीमतों में इजाफा तय है… यानी मोबाइल और अन्य गैजेट्स पर महंगाई बढ़ेगी… वहीं भारत अपनी जरूरत का 80 फीसदी कच्चा तेल विदेशों से खरीदता है… इसका भुगतान भी डॉलर में होता है और डॉलर के महंगा होने से रुपया ज्यादा खर्च होगा… इससे माल ढुलाई महंगी होगी, इसके असर से हर जरूरत की चीज पर महंगाई की और मार पड़ेगी…

 

वहीं जिन चीजों को भारत यूक्रेन से खरीदता है उन पर प्रतिबंध लगने से महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी… दरअसल कच्चे तेल का भाव बढ़ने से आयात का खर्चा बढ़ेगा और घरेलू स्तर पर महंगाई का दबाव बढ़ने का खतरा बढ़ जाएगा… वहीं पहले से ही महंगाई से परेशान भारत के लिए ये दोहरी मार से कम नहीं होगा… बता दें कि भारत खाने के तेल का बड़े पैमाने पर यूक्रेन से आयात करता है…क्योंकि यूक्रेन सूरजमुखी के तेल का सबसे बड़ा उत्पादक है… भारत की बात करें तो यहां पिछले कुछ समय से खाने के तेल के दाम पहले से ही आसमान पर है और युद्ध के चलते सप्लाई रुकी तो इसकी कीमतों में और इजाफा होना तय है… इसके अलावा रूस भारत को खाद देता है और युद्ध के हालातों के बीच इसके आयात में भी रुकावट आ सकती है…जबकि देश में पहले से ही यूरिया संकट है…जिसका सीधा असर किसानों पर पड़ेगा…

 

बता दें कि देश में खुदरा महंगाई पहले से ही उच्च स्तर पर बनी हुई है… ऐसे में क्रूड ऑयल की कीमतों में तेजी से और इजाफा होगा… दरअसल, कच्चा तेल महंगा हुआ तो देश में पेट्रोल-डीजल और गैस पर इसका सीधा असर देखने कतो मिलेगा… पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने से माल ढुलाई पर खर्च बढ़ेगा और सब्जी-फल समेत रोजमर्रा के सामनों पर महंगाई बढ़ेगी….

ये चीजें होंगी महंगी!

पेट्रोल-डीजल
CNG, रसोई गैस
सब्जी फल
खाने का तेल
खाद
मोबाइल
लैपटॉप
गैस

 


यह भी पढ़े-

 

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की केन्द्र सरकार से अपील

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here