Movie Review…तड़प मूवी की तड़प ही कुछ ऐसी है…

movie review...तड़प मूवी की तड़प ही कुछ ऐसी है...
movie review...तड़प मूवी की तड़प ही कुछ ऐसी है...

Movie Review…तड़प मूवी की तड़प ही कुछ ऐसी है…


Report By: Rj Amit Soni


नई दिल्ली– तीन साल पहले रिलीज़ हुई तेलुगु फिल्म, जिसका नाम “आरएक्स 100” था. जिसने खूब सिनेमाघरों में धमाकेदार कारोबार किया. इस फिल्म के हीरो कार्तिकेय और हीरोइन पायल राजपूत को रातोंरात स्टार बना दिया था. अब इस मूवी का बॉलीवुड रीमेक बनाया गया है, जिसका नाम “तड़प” है. इस फिल्म की स्टारकास्ट में सुनील शेट्टी के बेटे आहान शेट्टी है और तारा सुतारिया भी है. बता दें कि आहान शेट्टी ने फिल्म तड़प से अपना बॉलीवुड में डेब्यू किया हैं. वहीं एक्ट्रेस तारा सुतारिया को आप कई फिल्मों में देख चुके हें. यह बॉलीवुड रीमेक मूवी की कहानी एक साधारण प्रेम कहानी है. इस फिल्म में लड़की की मुख्य भुमिका निभाने वाली एक्ट्रेस तारा सुतारिया एक लोकल नेता की बेटी होती हैं, जो की लंदन से पढ़ कर आती है. उसे(तारा सुतारिया) को पहली ही नजर में प्यार हो जाता है. आपको यह फिल्म बॉलीवुड की टिपिकल ड्रामा फिल्मों में से एक लगेगी, जिसमें गरीब लड़के और अमीर लड़की की प्यार हो जाता है. लेकिन असल में इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं हैं, क्योंलकि कहानी जैसे-जैसे आगे बढ़ती जाती है, इस लव स्टोरी की कई परतें खुलती हैं, जैसे सुबह होते ही हमारी आँखे खुलती है…

 

दरअसल किसी भी फिल्म मेकर के लिए नए एक्टर को लॉन्चे करना अपने आप में एक बड़ी चुनौती होती है. ऐसा इसलिए क्योंकी फिल्म मेकर के लिए एक एक्टर को सबसे बेहतरीन रूप में प्रजेंट करना चैलेंजिंग हो जाता है. एक ऐक्टर के लिए यह जरूरी हो जाता है कि वह मिले हुए स्क्री स्पेस में अपना बेस्ट दे सकें. लेकिन आहान शेट्टी इस बार बिलकुल भी इस पर खरे नहीं उतर पाए है. फिल्म निर्देशक मिलन लुथरिया के डायरेक्शेन में बनी फिल्म “तड़प” में शुरुआती सेकेंड्स पूरी तरह से आहान शेट्टी पर सारा ध्यान लगाया हैं. फिल्म मेकर्स ने आहान को एक एंग्री यंग मैन वाली छवि देने की कोश‍िश की है, जिसमें फिल्म मेकर्स की कोशिश इस फिलेम में नाकाम रही. यह मूवी आपको इंटरवेल तक टिपिकल लव स्टोरी लगेगी, एक गरीब लड़का एक अमीर लड़की से प्यार कर बैठता है. तड़प में वही पुराना मसाला होगा, क्योंकी बॉलीवुड के फिल्म निर्देशकों के पास और कोई नया मसाला नहीं बचा है, जो की वह दिखा सकें. लेकिन इंटरवेल के बाद कहानी में एक नया मोड़ आ जाता है, जहां प्यार जुदा हो जाता है. एक्टर आहान का किरदार अपने जूनून की हद पार करने लगता है. ईशान (आहान शेट्टी) का किरदार धीरे धीरे बड़ा होता है वो गुस्सैल, गंभीर और जूनून से भरा बन जाता है. आहान ऑनस्क्रीन तो अच्छे लगते ही है. आहान शेट्टी की डेब्यू फिल्म में उनकों किरदार तो सही दिया गया, लेकिन डायलॉग डिलेवरी पर थोड़ा और ध्यान देना चहीए था. रजत अरोड़ा ने जो की इस फिल्म के राइटर है, उन्होंने फिल्म की कहानी और डायलॉग के बूते पर आहान को एक एक्शन-रोमांस हीरो के तौर पर पेश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी हैं. मिलन लुथरिया की फिल्मो में भारी भरकम डायलॉग्स होते है , फिल्म “तड़प” में भी उन्होंने इस विधा में निराश नहीं किया हैं. हालांकि, कई बार यह बतौर ऑडियंस आपके लिए ज्यादा हो जाता है. फिल्म का प्लॉट और इसकी कहानी एक समय के बाद फंसी हुई, और थकी हुई लगने लगती है. फिल्म में आहान के पिता का रोल सौरभ शुक्ला ने निभाया है, पूरा मंसूरी उन्हें पिता के नाम से बुलाता है. वहीं सौरभ शुक्ला ने इस फिल्म में अपना काम बखूबी निभाया हैं. वह जिस भी फिल्म में कोई भी किरदार करें, जो कहते है वह करके भी दिखाते है. ईशान की लेडी लव रमिसा (तारा सुतारिया) जो ऑनस्क्रीन सबको ही अच्छी लगती है. रोमांटिक सीन हो या इमोशनल रोने वाला तारा आपको सुन्दर ही लगती है. हालांकि, स्क्रीनप्ले में उनके पास करने के लिए बहुत कुछ नहीं है. लेकिन फिर भी यदि उन्हें थोड़ी स्पेस और मिलती, तो वह निखरकर सामने आती…

यह फिल्म अपनी कहानी के लेवल पर मात खाती है. यह फिल्म अपने रनटाइम में आपको बहुत थका देगी. बीच में आपको नींद भी आएगी लेकिन फिल्म में कई ट्विस्ट देखने को मिलेंगे, जो ड्रामा इस फिल्म में क्रिएट किया गया हैं. वहीं आपको कुछ दमदार ऐक्शन सीन्स‍ देखने को मिलेंगे, जो आपकी नींद को भी उड़ा देंगे. इस फिल्म के गाने गुनगुनाने लायक है, प्रीतम दा म्यूजिक और अरिजीत सिंह की आवाज़ आपको बांधे रखती है. मसूरी की खूबसूरती को दिखाने में सिनेमेटोग्राफर्स ने कोई कसर नहीं छोड़ी हैं. “तड़प” एक एसी लव स्टोरी है, जिसका जुनून ऑडियंस को भावनात्मक रूप से नहीं जोड़ पाता है…

कुल मिलाकर “तड़प” एक ऐसी फिल्म है, जिसमें रोमांस है, ऐक्शन है, संगीत है और खूबसूरत वादियां हैं. बहुत अच्छा होता यदि स्क्रीनप्ले पर थोड़ी और मेहनत होत. लव स्टोरी में कुछ और ऐसा होता, जो फिल्मय देखने के बाद दर्शक एक हसीन याद की तरह घर लेकर लौटते।
इस मूवी को और रोमांचक बना देता…

“तडप” फिल्म को Today Xpress की तरफ से 5 में से 2 .5 स्टार मिलते हैं.

  • https://todayxpress.com
  • 17 COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here