Uttarakhand-फिर जोर पकड़ने लगी “विशेष” राज्य के दर्जे की मांग

फिर जोर पकड़ने लगी

फिर जोर पकड़ने लगी “विशेष” राज्य के दर्जे की मांग


 

उत्तराखंड राज्य को विशेष राज्य के दर्जे की मांग फिर से उठने लगी है, ये मांग जोरो शोरो से उठा रहे है उत्तराखंड के अल्मोड़ा के सोमेश्वर विधानसभा से कभी विधायक रहे और वर्तमान में कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा, प्रदीप टम्टा इस समय उत्तराखंड में लगातार गांव गांव का दौरा कर रहे हैं, और उन्हें भारी जन समर्थन मिल रहा है, कांग्रेस सांसद प्रदीप टम्टा और हरीश रावत लोगों के बीच जाकर उनके मुद्दे उठा रहे हैं जिसमें से एक महत्वपूर्ण मांग विशेष राज्य के दर्जे की मांग है, उत्तराखंड विशेष राज्य की मांग के साथ ही उत्तरप्रदेश से अलग हुआ था और कांग्रेस सरकारों में विशेष हिमालयी राज्य के नाम से योजनाओं का लाभ उठा रहा था, लेकिन 2014 के बाद से मोदी सरकार द्वारा नीति आयोग का गठन किए जाने के बाद से ही उत्तराखंड के नाम के आगे से “विशेष” शब्द को हटा दिया गया जिसके बाद उत्तराखंड केंद्र सरकार की ओर से मिलने वाले कई लाभों से वंचित रह गया.

Today Xpress से बातचीत के दौरान राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने पुरजोर तरीके से मांग करते हुए कहा कि उत्तराखंड के साथ मोदी सरकार द्वारा किए गए भेदभाव के चलते उत्तराखंड के विकास को बांधा पहुंची हैं जिसका कांग्रेस पार्टी विरोध करते हुए विशेष राज्य के दर्जे को उत्तराखंड को वापस देने की मांग कर रही है, ऐसे में अब उत्तराखंड में कांग्रेस के हर मंच से उत्तराखंड को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग उठने लगी है. इतना ही नहीं राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने इस संबंध में पीएम मोदी को भी चिट्ठी लिखी है.

 

हरीश रावत के पक्ष में बह रही है हवा

उत्तराखण्ड में आने वाले दिनों में विधानसभा चुनाव होने हैं और बीजेपी कांग्रेस जोर शोर से प्रचारों में लगी हैं, ऐसे में उत्तराखण्ड में प्रदीप टम्टा और हरीश रावत की जनसभाओं को भारी बहुमत मिल रहा है, बीजेपी द्वारा उत्तराखण्ड में लगातार मुख्यंतियों को बदले जाने के बाद जनता बीजेपी से नाराज दिख रही है और हरीश रावत को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर जनसर्थन लगातार बढ़ता जा रहा है. ऐसे में अगर देखा जाए तो आने वाले समय में चुनाव के दौरान कांग्रेस का पलड़ा भारी लग रहा है.

  • https://todayxpress.com
  • 16 COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here