Uttarakhand Election Results 2022: सत्ता में वापसी कर भाजपा ने उत्तराखंड में रचा इतिहास जीत, 47 सीटें पर जीत हासिल की…

Uttarakhand Election Results 2022: सत्ता में वापसी कर भाजपा ने उत्तराखंड में रचा इतिहास जीत, 47 सीटें पर जीत हासिल की...
Uttarakhand Election Results 2022: सत्ता में वापसी कर भाजपा ने उत्तराखंड में रचा इतिहास जीत, 47 सीटें पर जीत हासिल की...

Uttarakhand Election Results 2022: सत्ता में वापसी कर भाजपा ने उत्तराखंड में रचा इतिहास जीत, 47 सीटें पर जीत हासिल की…


Report By- Khushi Sinha


नमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के रथ पर सवार होकर भाजपा ने एक नया इतिहास गुरुवार को दो तिहाई बहुमत के साथ उत्तराखंड में सत्ता में वापसी कर रच दिया है।

देहरादून: नमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के रथ पर सवार होकर भाजपा ने एक नया इतिहास गुरुवार को दो तिहाई बहुमत के साथ उत्तराखंड में सत्ता में वापसी कर रच दिया है। विधानसभा चुनाव के परिणामों को बृहस्पतिवार को घोषित किया गया जिसमे 70 में से 47 सीटों पर विजय पताका फहराने के साथ भाजपा ने बहुमत के 36 के जादुई आंकड़े को भी आसानी से पार कर दिया और सत्ता की दौड़ में फिर से बाजी मार ली है।आपको बता दे, वर्ष 2000 में उत्तर प्रदेश के पुनर्गठन के बाद ही अस्तित्व में आए इस प्रदेश के चुनावी इतिहास में कोई भी पार्टी ने लगातार दो बार से सरकार नहीं बनाई है। देखा जाए तो भाजपा और कांग्रेस ही बारी-बारी से सत्ता में दीखते आ रही हैं। वहीं, अपने लिए 60 से अधिक सीटें पर जीतने का लक्ष्य निर्धारित करने वाली भाजपा ने अपने पुराने प्रदर्शन को नहीं दोहरा पाई।

कांग्रेस का सपना टूटा

अगर हम पिछले बार के चुनाव की बात करे तो भाजपा ने 70 में से 57 पर जीत हासिल कर जबरदस्त जनादेश हासिल कि था। सत्ता विरोधी लहर के दम पर सरकार बनाने का जो सपना देख रही कांग्रेस दरसल वे प्रदर्शन भी आशानुरूप नहीं रहा और हरीश रावत कांग्रेस मुख्यमंत्री पद के अघोषित दावेदार सहित कई दिग्गज उम्मीदवार चुनाव हार गए है। हालांकि, 2017 के अपने पिछले प्रदर्शन में कुछ सुधार करते हुए उन्होंने 18 सीटें अपने नाम कीं जबकि एक अन्य पर उसका उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए है।

बीजेपी की जीत का मजा हुआ किरकिरा धामी के हारने से

पिछले बार की चुनाव में कांग्रेस महज 11 सीटों पर ही सिमट गई थी। प्रदेश में दो सीट बहुजन समाज पार्टी के नाम हुई वही निर्दलीय के खाते में भी गयी दो सीट। इस बीच देखा जाए तो चुनाव में पुष्कर सिंह धामी जो की मुख्यमंत्री है, उन्होंने अपनी विधानसभा सीट खटीमा को बरकरार रखने में बुरी तरह विफल रहने से भाजपा की जीत का सारा मजा किरकिरा हो गया।पुष्कर सिंह धामी कांग्रेस के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष भुवन चंद्र कापड़ी से 6,579 मतों के अंतर से पराजित रह गए। पुष्कर सिंह धामी मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री भी रहे स्वामी यतीश्वरानंद हरिद्वार ग्रामीण सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी अनुपमा रावत से हार गए है। हरीश रावत जो की कांग्रेस नेता है उनकी पुत्री है अनुपमा।

प्रदेश में कांग्रेस के चुनावी अभियान की अगुवाई करने वाले रावत लालकुआं सीट से भाजपा प्रत्याशी मोहन सिंह बिष्ट से 17,527 वोटों के भारी अंतर से हार गए। इधर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गणेश गोदियाल भी श्रीनगर की सीट से निवर्तमान विधायक धनसिंह रावत के हाथों पराजित हो गए है। आपको बता दे की जागेश्वर सीट पर अब तक अजेय रहे कांग्रेस के एक ओर दिग्गज गोविंद सिंह कुंजवाल भाजपा के मोहन सिंह से 5,883 मतों से हार गए है देहरादून जिले के रायपुर से भाजपा के उमेश शर्मा काउ ने एक बार फिर 30,052 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के हीरा सिंह बिष्ट को हराकर न केवल अपनी सीट बरकरार रखी बल्कि प्रदेश में सबसे बड़ी जीत भी हासिल की। पिछले चुनाव की बात करे तो उसमे भी काउ ने 36,000 मतों से प्रदेश में बड़े अंतर से जीत हासिल की थी।

‘आप’ का नहीं खुला खाता

आम आदमी पार्टी के मुफ्त बिजली, मुफ्त तीर्थयात्रा और बेरोजगारी भत्ता सहित अन्य कोई भी वादे प्रदेश की जनता को लुभाने न पायी और उत्तराखंड में उसका खाता भी नहीं खुल पाया। आपको बता दे की आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के चेहरे रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल गंगोत्री सीट पर भाजपा के सुरेश चौहान और कांग्रेस के विजयपाल सिंह सजवाण के बाद तीसरे स्थान पर नज़र आये।आम आदमी पार्टी ने प्रदेश की सभी सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ा था।

  • https://todayxpress.com
  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here